1. HOME
  2. सेक्स लूब्रिकेंट्स. महिलाओं के लिए सेक्स लुब्स। महिलाओं के लिए स्नेहक और मालिश जेल|

सेक्स लूब्रिकेंट्स क्या है?

सेक्स लूब्रिकेंट्स क्या है?

सेक्स करते समय जनन अंगो में योन सम्बन्ध बनाते समय चिकनाई होने लग जाती है, जो चिकना प्रदार्थ होता है उसे सेक्स लुब्रिकेंट कहते है। यह लुब्रिकेंट योन सम्बन्ध के दौरान अपने आप निकलता है है इससे चिकनाई से सेक्स क्रिया करने में आसनी वे आनंद मिलता है। लुब्रिकेंट निकलना प्रकृतिक होता है। यह महिलाओं के गर्भाशय ग्रीवा से निकलता है। मासिक धर्म के दौरान यह अधिक मात्रा में बहार निकलता है। सेक्स करते समय जनन अंगो में योन सम्बन्ध बनाते समय चिकनाई होने लग जाती है, जो चिकना प्रदार्थ होता है उसे लुब्रिकेंट कहते है। यह लुब्रिकेंट योन सम्बन्ध के दौरान अपने आप निकलता है है इससे चिकनाई से सेक्स क्रिया करने में आसनी वे आनंद मिलता है ।

लुब्रिकेंट निकलना प्रकृतिक होता है। यह महिलाओं के गर्भाशय ग्रीवा से निकलता है। मासिक धर्म के दौरान यह अधिक मात्रा में बहार निकलता है। परन्तु कई महिलाओं के सूखेपन की वजह से लुब्रिकेंट नहीं निकल पता, किसी किसी महिला के सेक्स के समय लुब्रिकेंट बहुत काम निकलता है इस कारण सेक्स करने में तकलीफ होती है। महिलाओं के खिलोने हस्तमैथुन खिलोनो का उपयोग करते समय महिलाओं लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना चाहिए । सेक्स क्रिया को लम्बे समय तक करने वाले लोग बहार से लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कर के सूखेपन की कमी को दूर करते है और चिकनाई करते है इससे सेक्स क्रिया करने में आसानी होती है । लुब्रिकेंट का उपयोग कंडोम पर लगा कर सकते है | पुरुषो के सेक्स खिलोने पर भी लुब्रिकेंट लगाया जा सकता है |

सेक्स लूब्रिकेंट्स के प्रकार।

सेक्स लूब्रिकेंट्स के प्रकार।

प्राकृतिक तौर पर यदि लुब्रिकेंट की कमी होती है, तो बाहरी लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कर सकते है । लुब्रिकेंट कई प्रकार के होते है। जिन महिलाओं में सूखेपन के कमी हो जाती है, उन महिलाओं के लिए लुब्रिकेंट सेक्स क्रिया करने का बहुत अच्छा माध्यम है। जिन लोगो को सेक्स में दिलचस्पी होती है वे महिला पुरुष बहार से लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कर सूखेपन की कमी को दूर करके लम्बे समय तक सेक्स क्रिया कर सेक्स सुख प्राप्त कर सकते है । लुब्रिकेंट विभिन प्रकार के होते है। जल आधरित लुब्रिकेंट, तेल आधारित, सिलकॉन आधरित, आर्गनिक सेक्स लुब्रिकेंटआदि। यह अलग-अलग प्रकार के लुब्रिकेंट होते यह अलग अलग तरह से अपना असर करते है ।

तेलयुक्त लुब्रिकेंट

यह महिलाओं के लिए अच्छा लुब्रिकेंट है इससे योनि में रूखेपन की कमी दूर हो जाती है ।

जलयुक्त लुब्रिकेंट

यह लुब्रिकेंट जल की तरह सबसे पतला लुब्रिकेंट होता है। यह योनि को काफी हद तक चिकना कर देती है। इससे कपड़ो पर दाग भी नहीं लगता और यह आसनी से साफ़ हो जाती है।

सिलकॉनयुक्त लुब्रिकेंट

- यह महिलाओं की योनि के लिए सबसे अच्छा लुब्रिकेंट होता है यह लम्बे समय तक योनि को चिकना वे मुलायम बना कर रखता है। इसका इस्तेमाल बाथरूम व् पूल में सेक्स करते समय भी कर सकते है।

आर्गनिकयुक्त लुब्रिकेंट

यह प्राकृतिक अवयवों से बनाया जाता है इससे इस्तेमाल करने से केवल चिकनाई ही नहीं होती बल्कि इसके इस्तेमाल से योनि में नमी वे कोमलता बनी रहती है|

सेक्स लूब्रिकेंट्स के लक्षण

सेक्स लूब्रिकेंट्स के लक्षण

लुब्रिकेंट निकलना यह प्रकृतिक निर्माण दुवरा होता है। महिलाओं में गर्भाशय ग्रीवा द्वारा बहार निकलता है। जब महिला अपने मस्तिक में योन क्रिया सोचती है या पुरुष द्वारा हस्तमैथुन किये जाने पर योनि में अपने आप चिकनाई होने लग जाती है इसे महिलाओं सेक्स उत्पन्न होने लग जाता है।

कुछ महिलाओं में में सूखापन होता है, जिस कारण उनकी योनि में चिकनाहट नहीं हो पाती इस कारण वे सेक्स से दुरी बनाने लग जाती है। महिला -पुरुष के रिश्तो में दूरिया भी बढ़ जाती है। सेक्स के दौरान यदि चिकनाई नहीं होती सेक्स करने में आनंद नहीं आता। योनि में सूखापन होने की वजह से सेक्स क्रिया करने में परेशानी होती है। योनि में सूखापन दूर करने के लिए और सेक्स क्रिया को अच्छी तरह वे लम्बे समय तक करने के लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना उचित रहता है। लुब्रिकेंट के उपयोग करने से सूखे में चिकनाई हो जाती है और आसानी से सेक्स किया जाता है ।

यौन खिलौनों के साथ सेक्स लूब्रिकेंट का उपयोग कैसे करें?

यौन खिलौनों के साथ सेक्स लूब्रिकेंट का उपयोग कैसे करें?

लुब्रिकेंट का इस्तेमाल जनन अंगो में लगाकर करते है इसे चिकनाई पैदा होती है| खिलौने इतिहास बहुत ही पुराना है| लुब्रिकेंट का इस्तेमाल सेक्स खिलोने पर लगाकर कर सकते है, सेक्स करते समय लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना लाभ देता है इसे चिकनाई अधिक बनी रहती है। कंडोम पर लुब्रिकेंट लगाकर सेक्स क्रिया करने में आसानी रहती है । शुरुआती में जो लोग सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल करते है उन्हें लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना चाहिए। शुरुआती खिलोने का इस्तेमाल लुब्रिकेंट लगाकर करना चाहिए। कुछ खिलोने ऐसे जिन पर लुब्रिकेंट लगाकर इस्तेमाल किया जाता है। लुब्रिकेंट लगाने से खिलोने में चिकनाई होती है - बट प्लग, गुदा सेक्स खिलोने, रेबिट खिलोने, हस्तमैथुन खिलोने आदि कई खिलोनो पर लुब्रिकेंट लगाने से सेक्स क्रिया करते समय आसानी हो जाती है|

सेक्स खिलोने कई प्रकार के होते है महिलाओं के खिलोने जिन्हे योनि खिलोने भी कहते है | परिपक़्व सेक्स खिलौने का उपयोग महिलाये सेक्स सुख का आनंद लेने के लिए करती है उसी प्रकार पुरुष खिलोने- लिंग सेक्स खिलौने भी होते है। लुब्रिकेंट का उपयोग लिंग आस्तीन सेक्स खिलोने का इस्तेमाल करते समय कर सकते है |कुछ खिलोने ऐसे है| लिंग खिलोने, पुरुष लिंग आस्तीन खिलोनो पर कंडोम का व लुब्रिकेंट लगा सकते है।जिन्हे महिला -पुरुष दोनों एक साथ में उपयोग में ले सकते है। समलैंगिक खिलोने का इस्तेमाल करते लुब्रिकेंट इस्तेमाल करने समलैगिंक जोड़ो को सेक्स क्रिया करते दौरान ज्यादा तकलीफ नहीं होती है।

यौन खिलौनों के साथ यौन स्नेहक का उपयोग करने के लाभ।

यौन खिलौनों के साथ यौन स्नेहक का उपयोग करने के लाभ।

सेक्स खिलोनो के साथ लुब्रिकेंट का उपयोग करना बहुत अच्छा होता है। खिलोनो पर लुब्रिकेंट लगाने से खिलौना में चिकनाई हो जाती है जो आसानी योनि वे गुदा में अंदर- बहार हो जाते है। हस्तमैथुन खिलौना का इस्तेमाल करते समय महिलाओं के लिए बहुत उचित मन जाता है। यह मालिश खिलोने का काम करती है।जिन लोगो को सेक्स खिलोने का इस्तेमाल करते समय परेशानी होती है वे खिलोने पर लुब्रिकेंट लगाकर सेक्स क्रिया कर सकते है। जिन खिलोनो पर लुब्रिकेंट लगाया जा सकता है वह खिलोने आसानी से यौन क्रिया करने के काम आते है और उनसे आनंद आता है। परन्तु कुछ खिलोने ऐसे है जिन पर लुब्रिकेंट नहीं लगाया जा सकता|

सेक्स खिलौनों के साथ सेक्स लूब्रिकेंट का उपयोग करते समय सावधानियां।

सेक्स खिलौनों के साथ सेक्स लूब्रिकेंट का उपयोग करते समय सावधानियां।

लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना बहुत अच्छा सेक्स क्रिया करने का तरीका होता है । लुब्रिकेंट से सूखापन दूर हो कर चिकना हो जाता है, परन्तु कुछ लुब्रिकेंट ऐसे भी होते है जिनसे लाभ के साथ साथ हानि भी हो सकती है। लुब्रिकेंट का उपयोग जरूरत के अनुसार ही करना चाहिए। सेक्स खिलोने में यदि लुब्रिकेंट लगाया जा सकता है तो लुब्रिकेंट को जरूरत के अनुसार ही लगाये। अनल खिलोनो पर लुब्रिकेंट लगाने से सेक्स क्रिया करने में आसानी हो जाती है परन्तु कई लुब्रिकेंट का असर गलत नहीं हो सकता है। लुब्रिकेंट का इस्तेमाल प्लास्टिक या रबड़ से बने खिलोनो पर करना चाहिए। लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने के बाद यदि अच्छे साफ़ नहीं किया जाता तो लुब्रिकेंट त्वचा के अंदर जाने के वजह से संक्रमण होने का डर हो सकता है। महिलाओं को स्क्वाटिंग खिलोनो का इस्तेमाल करने से पहले लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने से आसनी हो जाती है और चरम सुख की प्राप्ति होती है बीडीएसएम खिलोने, एसएम खिलौना ,पर लुब्रिकेंट की लगाने जरूरत नहीं पड़ती।

MENU

TOP