s भारतीय महिला सेक्स के बारे में बात क्यों नहीं करती, क्या भारतीय महिला ओरल सेक्स के बारे में नहीं जानती, सेक्स खिलोने भारतीय महिला की मदद कैसे कर सकते है?
  1. HOME
  2. भारतीय महिला सेक्स के बारे में बात क्यों नहीं करती, क्या भारतीय महिला ओरल सेक्स के बारे में नहीं जानती, सेक्स खिलोने भारतीय महिला की मदद कैसे कर सकते है?

भारतीय महिला सेक्स के बारे में बात क्यों नहीं करती?

भारतीय महिला सेक्स के बारे में बात क्यों नहीं करती?

हमारे देश में महिलाओं को देवी की संज्ञा दी जाती है, ये और बात है कि व्यवहार में उन्हें जानवरों के बराबर भी नहीं समझा जाता. खुद महिलाएं सालों से ये मांग कर रही हैं कि उन्हें देवी का दर्जा नहीं बल्कि इंसान ही समझा जाए. एक हाड़-मांस से बना इंसान, जिसमें भावनाएं हैं, जिसकी अपनी भी इच्छाएं हैं|आमतौर पर सभी की सोच होती है कि पत्नियों को शॉपिंग, घूमने और मूवी देखने का ही शौक होता है। महिलाओं के यह शौक हो न हों लेकिन सेक्स को लेकर दीवानगी पुरुषों से ज्यादा होती है। यह भी आप जान लीजिए। जिस तरह भूख के समय पेट का भरना जरुरी है उसी तरह उत्तेजना के वक्त सेक्स करना भी बेहद जरूरी है।सेक्स की चाहत महिला के लिए दुनिया की हर बेशकीमती चीज से बढ़कर है। कई महिलाएं भले शर्म की वजह से ये इच्छा अपने पति से जाहिर नहीं कर लेकिन पतियों को समझदारी से काम लेते हुए अपनी पत्नियों की इस चाहत का पूरा ख्याल रखना चाहिए| हमारे यहां सेक्स अपने आप में एक ऐसा शब्द, जो जरुरत तो है, लेकिन अगर खुले तौर पर उसका नाम भी लेते हैं तो पाप हो जाता है| ये एक ऐसा शब्द है जिसके सुनते ही लोग कानों पर हाथ रख लेते हैं और अगर ये शब्द किसी कुंवारी लड़की के लिए कहना हो तब तो बस ऐसा लगता है मानो दुनिया ही खत्म हो जाए| हमारे समाज के दोगलेपन की इंतहा यही है कि एक ओर जहां लड़कियों को ये बताते हैं कि शादी के पहले सेक्स करने से उसकी और परिवार दोनों की इज्जत चली जाती है तो दूसरी तरफ लड़कों के लिए ऐसा कोई ज्ञान ना तो बना है ना ही उन्हें दिया जाता है.क्योंकि वो तो लड़के हैं कभी भी किसी के भी साथ सेक्स कर सकते हैं|

क्या भारतीय महिला ओरल सेक्स के बारे में नहीं जानती?

क्या भारतीय महिला ओरल सेक्स के बारे में नहीं जानती?

कई महिलाओं को शारीरिक सम्बन्ध बनाने का काफी चाव होता है और इसके लिए वह किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हो जाती है. यानी सेक्सुअल इंटरकोर्स के दौरान उन्हें किसी प्रकार के ओरल सेक्स से परहेज नहीं होता लेकिन कुछ महिलाएं ,औरतें या लड़किया ऐसी भी होती है जो सेक्स के प्रति कम रूचि दिखाती है. लेकिन जो महिलाएं सेक्स में रूचि लेती भी है वह पार्टनर के साथ ओरल सेक्स करने से डरती हैं. कई महिलाओं को पुरुषों के साथ मुखमैथुन करना अच्छा नहीं लगता. बेशक इसके पीछे महिलाओ के कई कारण हो सकते हैं|

-ज्यादातर महिलाओं को लिंग को मुह में लेने में जिझक होती है| महिलाओं को लिंग का लुक बिल्कुल अच्छा नहीं लगता। इसी वजह से महिलाएं मुखमैथुन नहीं करती हैं।

-महिलाओं का मानना हैं कि वह लिंग को पूरा मुंह के अंदर नहीं ले जा पाएंगी। उन्हें लगता है कि वह अपने पार्टनर को उम्मीद जितना आनंद नहीं दे पाएंगी। ऐसे में वह मुखमैथुन ना करना ज्यादा पसंद करती हैँ।

-कई महिलाओं को पता ही नहीं होता है की मुखमैथुन कैसे किया जाता है। ऐसे में वह झिझक के कारण कुछ कह ही नहीं पाती।

-कई बार महिलाएं इसीलिए मुखमैथुन नहीं करती क्योंकि पुरुष डिस्चार्ज होने के बाद पलटी मारकर सो जाते हैं और इस बात का ख्याल नहीं रखते कि उनकी महिला का क्या होगा।

-कई महिलाएं लिंग को गंदा मानती हैं और साफ-सफाई की आदत के कारण मुह में लेने से बचती हैं।महिलाओं को लगता है कि इसके अलावा अन्य सेक्स क्रियाओं से साथी को खुश किया जा सकता है।कई महिलाएं बड़ा लिंग साइज होने के कारण मुखमैथुन करने से डरती हैं।

क्या भारतीय महिला सेक्स खिलौना का उपयोग करती?

क्या भारतीय महिला सेक्स खिलौना का उपयोग करती?

भारत में सेक्स खिलौनों और सेक्स से जुड़ी दूसरी चीजों को न तो खुलेआम खरीदा बेचा जाता है और न ही इसकी अनुमति है। इस तरह के कारोबार को अपराध की श्रेणी में रखा गया है लेकिन फिर भी गैरकानूनी तरीके से बहुत सी जगहों पर सेक्स खिलौने बेचे जाते हैं। भारत में सेक्स से जुड़े खिलौने, उपकरण और दूसरे सामानों की भारी मांग है।महिला खरीदारों की संख्या भी कम नहीं है। महिलाओं के बीच वायब्रेटर सेक्स खिलोने, डिलडो,मेजिक वंड, मसाजर सेक्स खिलोने लुब्रीकेंट्स और लोशन काफी लोकप्रिय है। भारत में कई महिलाएं सेक्स खिलोनो का उपयोग करती हैं। 18 से 23 वर्ष के -लड़कियों में बुलेट वायब्रेटर लोकप्रिय है। सेक्स खिलोने का उपयोग महिला अपनी सेक्स संतुस्ठी प्राप्त कर सकती है| कई बार महिला एक ही तरह की सेक्स प्रक्रिया को बार-बार अपनाकर बोर हो जाते हैं। ऐसे में वह सेक्स से दूरी बनाने लगते हैं। लेकिन आपको बता दें कि सेक्स करते समय आप कुछ हट कर या हर बार कुछ अलग करेंगे तो आपकी सेक्सुअल जिदंगी में नई ऊर्जा आ जाएगी। इससे आप दोनों के रिश्ते में भी मधुरता आ जाएगी और सेक्स खिलौने के इस्तेमाल से आप अपनी सेक्सुअल जिंदगी को मनोरंजक बना सकते हैं। सेक्स खिलोने का इस्तेमाल करना आप और आपके साथी दोनों को ही आनंदित कर देगा।

सेक्स खिलोने भारतीय महिला की मदद कैसे कर सकते है?

सेक्स खिलोने भारतीय महिला की मदद कैसे कर सकते है?

भारत में अधिकांश महिलाएं विभिन्न प्रकार के सेक्स खिलोने का उपयोग करती हैं। महिलाएं हस्तमैथुन के दौरान अकेले सेक्स खिलौने का उपयोग अपनी सभी यौन जरूरतों को पूरा करने के लिए या अपने साथी के साथ सेक्स के दौरान कर सकती हैं। महिलाएं अपने सच्चे सेक्स खिलोने को किराए पर ले सकती हैं जो सही समय पर और सही तरीके से उनकी यौन इच्छा को पूरा करते हैं। अकेले समय पर हस्तमैथुन एक गहरी व्यक्तिगत गतिविधि है जो यौन इच्छाओं को पूरा करती है। क्या होगा अगर महिलाएं अपने अकेले समय में महिलाओं के लिए सेक्स खिलोने का उपयोग करती है| महिलाओं के लिए सेक्स खिलौने या महिला के लिए सेक्स खिलौने ऐसी वस्तुएं हैं जो महिलाओं द्वारा अपनी यौन इच्छा और इच्छाओं को पूरा करने के लिए उपयोग की जाती हैं। महिलाएं अकेले या अपने साथी के साथ सेक्स खिलोने का इस्तेमाल कर सकती हैं। |

+

MENU

TOP