s पीरियड के समय सम्बन्ध बनाना, पीरियड के समय सेक्स खिलौना का उपयोग व प्रकार, सेक्स खिलौना का उपयोग करते समय सावधानी?
  1. HOME
  2. पीरियड के समय सम्बन्ध बनाना, पीरियड के समय सेक्स खिलौना का उपयोग व प्रकार, सेक्स खिलौना का उपयोग करते समय सावधानी?

पीरियड के समय सम्बन्ध बनाना?

पीरियड के समय सम्बन्ध बनाना?

पीरियड के समय महिलाओं के शरीर में होने वाली एक प्रक्रिया है जो एक निश्चित अन्तराल के बाद स्वाभाविक रूप से होती है|यह प्राकृतिक शारीरिक प्रक्रिया महिलाओं के प्रजनन तंत्र से जुड़ी हुई है, इस प्रक्रिया का सुचारू रूप से होते रहना महिलाओं के अच्छे स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है|पीरियड की प्रक्रिया के दौरान क्या करना सही है और क्या नहीं, इस बात को लेकर अधिकांश महिलायें अक्सर दुविधा में रहती हैं| खास तौर से जब बात पीरियड के दौरान सेक्स की हो तो ज्यादातर लोग यही समझते हैं कि पीरियड के दौरान सेक्स करना सही नहीं है. लेकिन असल में यह धारणा गलत है.पीरियड के दिनों में यौन संबंध बनाना कई समाज में गलत मन जाता है| कई जगह जहां पीरियड को ही अपवित्र माना जाता है, वहीं युगल इस दौरान सेक्स संबंधों से दूर रहते हैं| लेकिन कई जानकारी से पता लगा है कि पीरियड के दौरान संबंध बनाने से पीरियड के दिन छोटे हो सकते हैं| महिलायो को दर्द कम होता है| ब्लड कम होता है| पीरियड के दौरान यौन संबंध बनाने से महिलायो को पीरियड के दिनों में संबंध बनाने से आपको ऐंठन(क्रैंप्स) को दूर करने में मदद मिलती है| इसके साथ-साथ पीरियड में ब्लड आना भी जल्दी बंद हो सकता है| दूसरा फायदा,ऑर्गेज्म से बॉडी ऑक्सीटॉसिन और डोपामाइन दूर करता है| इससे महिला को अपने पीरियड दर्द को भी कम करने में मदद मिलती है|असल में ऑर्गेज्म से जो हार्मोन्स दूर होते हैं| सेक्स खिलोने का उपयोग करने महिलायों को बहुत फायदा होता है| दर्द से आराम मिलता है सेक्स की इच्छा पूर्ति होती है|

पीरियड के समय सेक्स खिलौना का उपयोग?

पीरियड के समय सेक्स खिलौना का उपयोग?

पीरियड के दौरान शारीरिक सम्बन्ध कहीं से भी बुरा या नुकसानदायक नहीं है अगर दोनों पार्टनर्स कम्फर्टेबल हों तो। इस दौरान सेक्स न करने की कोई मेडिकल वजह नहीं है। सेक्स खिलोने आपके प्यार के जीवन को मसाला देने और बेडरूम में विविधता लाने के लिए एक शानदार उपकरण हैं| इन खिलौनों का उपयोग करने की प्रवृत्ति उनके रास्ते पर है, क्योंकि अधिक से ज्यादा लोग उनका उपयोग कर रहे हैं| सेक्स खिलौना का उपयोग पीरियड के दोरान भी कर सकते है| कई पुरुष पीरियड के दिनों में महिलायो के साथ सेक्स नहीं करते है| महिलायो की पीरियड के समय सेक्स की अच्छा अधिक होती है उस समय महिलाये सेक्स खिलौना का उपयोग कर सकती है| सेक्स खिलोने महिलायो को पीरियड के समय होने वाले दर्द से राहत देते है ऐसे कई खिलोने जिनका उपयोग कर महिलये अपनी इच्छा और समस्या को दूर कर सकती है| पीरियड के दोरान युगल गुदा सेक्स कर सकते है| साथ ही सेक्स खिलौना का इस्तेमाल कर सकते है| पीरियड के दोरान महिला वाइब्रेटर सेक्स खिलौना का उपयोग कर सकती है यह महिला को मालिश करने में मदद करता है जिन महिला को पीरियड के समय के दर्द होता है सेक्स खिलोनो का उपयोग कर के महिलाये अपने दर्द को दूर कर सकती है| अगर आप कम से कम परेशान होना चाहते हैं तो नॉर्मल मिशनरी पोजीशन में ही पीरियड सेक्स करें क्योंकि जब आप पीठ के बल लेटती हैं तो ब्लड फ्लो कम होता है। पीरियड के समय वाइब्रेटर खिलोने महिलायों के दर्द को दूर करता है है ब्लड को भी कम करता है पीरियड के समय को कम करता है और महिलायों को आराम देता है|

पीरियड के समय सेक्स खिलौना के प्रकार ?

पीरियड के समय सेक्स खिलौना के प्रकार ?

पीरियड के समय महिलाये कई प्रकार के सेक्स खिलोनो का उपयोग कर सकती है| सेक्स खिलोने अकेले या अपने साथी के साथ भी कर सकती है| पीरियड के वक्त में एक वाइब्रेटर सेक्शुअल फ्रस्ट्रेशन को दूर करने और खुद को प्लेज़र देने का सबसे अच्छा तरिका है।ऐसे कई खिलोने है जिनका इस्तेमाल पीरियड के समय महिलाये आसनी से कर सकती है| महिलायों को जेट धारा(स्क्वाटिंग) रिसाव होता है जिसे महिलायों पीरियड के समय आराम मिलता है|जिन महिलायों को पीरियड के समयअधिक दर्द होने की शिकायत रहती है है पेट के बल लेट कर इन सेक्स खिलोनो का इस्तेमाल आसानी से कर सकती है| यह महिलायों का होने वाले दर्द से ध्यान को दूर करता है और मालिश का कम करता है|

वाइब्रेटर: ये सेक्स खिलौने महिला संभोग करने के लिए हैं| वे विभिन्न आकारों और आकारों में आते हैं और उनके प्रकारों में शामिल है|

क्लिटोरल वाइब्रेटर: ये क्लिटोरिस को उत्तेजित करती हैं|उनमें से कुछ को निश्चित रूप से क्लोजिटल उत्तेजना के अंत में एक बिंदु भी है|इसका उपयोग हस्त्मेठुं के दोरान कर सकते है|

रेबिट वाइब्रेटर: ये क्लिटोरिस और जी-स्पॉट दोनों को उत्तेजित करती हैं. यह एक ही समय में या एक समय में किया जा सकता है|

बुलेट वाइब्रेटर: बुलेट कंप्रेटर भी कहा जाता है, ये अंडे के रूप में छोटे होते हैं और उन्हें क्लिटोरिस को उत्तेजित करने के लिए बाहरी रूप से उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है. इन्हें योनि के अंदर भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जो उन्हें शुरुआती लोगों के लिए उत्कृष्ट बनाता है|

जी-स्पॉट वाइब्रेटर: ये आंतरिक वाइब्रेटर हैं जो जी-स्पॉट पर ध्यान केंद्रित करती हैं| जी-स्पॉट को उत्तेजित करने के लिए उनके पास एक घुमावदार टिप है|

फिंगर वाइब्रेटर: इन्हें एक उंगली पर पहनते समय क्लिटोरिस पर सीधे दबाव डालने के लिए भी उपयोग किया जाता है| इसका उपयोग महिलये कभी भी कर सकती है|

पीरियड के समय सेक्स खिलौना का उपयोग करते समय सावधानी?

पीरियड के समय सेक्स खिलौना का उपयोग करते समय सावधानी?

पीरियड्स के दौरान सेक्स करना आपकी अपनी इच्छा पर निर्भर करता है, लेकिन यह याद रखें कि इस दौरान सुरक्षित साधनों का इस्तेमाल जरूर करें। पीरियड के समय सेक्स खिलोनो का उपयोग करते समय खिलोने अच्छे से साफ़ करे|अपने अप्प को अच्छे साफ़ करे| वाइब्रेटर खिलोने का उपयोग करते समय कम्पन्न को धीमे रखे| हमेशा हल्के हाथ से खिलोने का इस्तेमाल करे ताकि कोई तकलीफ न हो सके| सेक्स के दौरान दर्द या किसी भी तरह की परेशानी हो तो तुरंत रुक जाये|सेक्स खिलोने का इस्तेमाल करने बाद उसे अच्छे साफ़ कर के सुरक्षित स्थान पर रखे|

+

MENU

TOP